वेरीकोस वेन्स

वैरिकोज वेन्स बढ़ी हुई हुई नसें होती हैं। कोई भी नसें वैरिकोज वेन्स हो सकती हैं, लेकिन सबसे अधिक प्रभावित नसें आपके पैरों और पैरों के पंजों में होती हैं। इसका कारण यह है कि खड़े होने और घूमने से आपके निचले शरीर की नसों में दबाव बढ़ जाता है।
वैरिकोज वेन्स आमतौर पर त्वचा की सतह के नीचे उभरती हुई नीली नसें दिखती हैं। यह लगभग हमेशा पैर और पंजों को प्रभावित करती हैं। सूजी और मुड़ी हुई नसों को कभी-कभी स्पाइडर वेन्स कहा जाता है।
कई लोगों के लिए, वैरिकोज वेन्स और स्पाइडर वेन्स सामान्य समस्या होती है, लेकिन कुछ लोगों को इससे दर्द और असुविधा हो सकती है। कभी-कभी यह गंभीर समस्याओं का रूप ले लेती है। यह अन्य परिसंचारी समस्याओं (circulatory problems) के जोखिम के बढ़ने का संकेत भी हो सकती हैं।
कई लोगों के लिए, वैरिकोज वेन्स और स्पाइडर वेन्स सामान्य समस्या होती है, लेकिन कुछ लोगों को इससे दर्द और असुविधा हो सकती है। कभी-कभी यह गंभीर समस्याओं का रूप ले लेती है। यह अन्य परिसंचारी समस्याओं (circulatory problems) के जोखिम के बढ़ने का संकेत भी हो सकती हैं।

वैरिकोज वेन्स के प्रकार – Types of Varicose Veins

  • मध्यम प्रकार

    मध्यम प्रकार की वेरिकोस वेन्स त्वचा के नीचे बड़े नीले उभार होते हैं। नीले रंग के कारण, मध्यम वेरिकोस वेन्स को एक कॉस्मेटिक समस्या माना जाता है, लेकिन अगर इनका इलाज नहीं किया जाए, तो वे अधिक गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकती हैं। मध्यम प्रकार की वेरिकोस नसों में रक्त का प्रवाह नहीं होता है और रक्त दिल की ओर जाने के बजाय शिराओं में एकत्रित होता है।

  • गंभीर प्रकार

    जब वेरिकोस वेन्स को अनुपचारित छोड़ दिया जाता है, तो वे और भी बिगड़ जाती हैं और विभिन्न स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकती हैं।

  • गर्भावस्था से संबंधित प्रकार

    गर्भावस्था के दौरान, शरीर में ज़्यादा रक्त का उत्पादन होता है जो रक्त वाहिकाओं पर दबाव बढ़ा सकता है और पैरों, पैल्विक क्षेत्र व योनी पर वेरिकोस वेन्स पैदा कर सकता हैं।

  • स्पाइडर वेन्स

    स्पाइडर वेन्स, मकड़ी के जाले या पेड़ की शाखाओं की तरह लगती हैं और आमतौर पर केवल एक कॉस्मेटिक समस्या होती है। इसका इलाज कुछ तरीकों से आसानी से किया जा सकता है।

वैरिकोज-वेन्स-के-लक्षण-varicose-veins-symptoms

  • गहरी बैंगनी या नीली दिखने वाली नसें।

  • रस्सियों की तरह दिखने वाली मुड़ी और सूजी हुई नसें।

  • पैरों में एक दर्द या भारीपन महसूस होना।

  • जलन, चीस मचना, मांसपेशियों में ऐंठन और पैरों के निचले हिस्से में सूजन।

  • पैरों में सूजन का इलाज लंबे समय के लिए बैठे या खड़े होने के बाद दर्द होना।

  • लंबे समय के लिए बैठे या खड़े होने के बाद दर्द होना।

  • एक या एक से अधिक नसों के आसपास खुजली होना।

  • टखने के पास त्वचा के अल्सर, जिसका अर्थ है कि आपको नस से सम्बंधित एक गंभीर रोग है जिसे इलाज की आवश्यकता है।

वैरिकोज वेन्स के कारण और कारक – Varicose Veins Causes & Risk Factors

वैरिकोज वेन्स के निम्नलिखित दो कारण हो सकते हैं –
  • उम्र

    जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, आपकी नसें अपना लचीलापन खो सकती हैं जिससे उनमें खिंचाव पड़ सकता है। आपकी नसों का वाल्व कमज़ोर हो सकता है और दिल की ओर बढ़ने वाला रक्त उलटी दिशा में बढ़ने लगता है। इससे नसों में रक्त इकठ्ठा हो जाता है और नसें फूलकर वैरिकोज वेन्स बन जाती हैं।

  • गर्भावस्था

    कुछ गर्भवती महिलाओं को वैरिकोज वेन्स हो सकता है। गर्भावस्था में आपके शरीर में रक्त का अधिक उत्पादन होता है लेकिन आपके पैरों से श्रोणि की तरफ रक्त का प्रवाह घटता है। यह संचार परिवर्तन बढ़ते भ्रूण के लिए होता है, लेकिन इससे वैरिकोज वेन्स हो सकता है।

वैरिकोज वेन्स के जोखिम कारक क्या हैं ?

वैरिकोज वेन्स के कारण और कारक – Varicose Veins Causes & Risk Factors

वैरिकोज वेन्स के निम्नलिखित दो कारण हो सकते हैं –
  • उम्र

    वैरिकोज वेन्स का जोखिम उम्र के साथ बढ़ता है। उम्र के साथ, आपकी नसों के वाल्व खराब हो जाते हैं जिससे दिल की ओर होने वाला रक्त प्रवाह उलटी दिशा में जाने लगता है और यह रक्त नसों में एकत्रित होकर वैरिकोज वेन्स बनाता है।

  • लिंग

    महिलाओं को वैरिकोज वेन्स होने की सम्भावनाएँ अधिक होती हैं। गर्भावस्था, मासिक धर्म के पहले या रजोनिवृत्ति के दौरान होने वाले हॉर्मोन परिवर्तन वैरिकोज वेन्स के जोखिम कारक हो सकते हैं क्योंकि यह हार्मोन वेन्स की दीवारों को शिथिल करते हैं। हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी या गर्भनिरोधक गोलियां लेना भी वैरिकोज वेन्स का खतरा बढ़ा सकते हैं।

  • परिवार में इसका इतिहास

    यदि आपके परिवार के अन्य सदस्यों को वैरिकोज वेन्स है, तो आपको भी यह होने का अधिक जोखिम हो सकता है।

  • मोटापा

    अधिक वज़न आपकी नसों पर दबाव बढाता है जिससे वैरिकोज वेन्स होने का खतरा बढ़ जाता है।

  • लंबी अवधि के लिए खड़े या बैठे रहना

    यदि आप लंबे समय के लिए एक ही स्थिति में रहते हैं तो आपका रक्त प्रवाह ठीक से नहीं हो पाता है, जिससे वैरिकोज वेन्स हो सकता है।